50+ Trending Gulzar Shayari & Quotes In Hindi 2020

 Trending Gulzar Shayari In Hindi

children’s day quotes for adults

Trending Gulzar Quotes In English

बहुत छाले है✧ उसके पैरों🦶 में ¸
कमबख्त उसूलों पर 🚶🏼चला होगा।

वक्त रहता नहीं कही भी टिक कर,
आदत इसकी भी इंसान जैसी हैं

वो चीज़ जिसे दिल कहते हैं,
हम भूल गए हैं रख के कहीं

कौन कहता हैं कि हम झूठ नहीं बोलते
एक बार खैरियत तो पूछ के देखियें

मैं दिया हूँ
मेरी दुश्मनी तो सिर्फ अँधेरे से हैं
हवा तो बेवजह ही मेरे खिलाफ हैं

शायर बनना बहुत आसान हैं
बस एक अधूरी मोहब्बत की मुकम्मल डिग्री चाहिए

बचपन में भरी दुपहरी में नाप आते थे पूरा मोहल्ला
जब से डिग्रियां समझ में आयी पांव जलने लगे हैं

पलक से पानी गिरा है,
तो उसको गिरने दो
कोई पुरानी तमन्ना,
पिंघल रही होगी

गुलाम थे तो हम सब हिंदुस्तानी थे¸
आजादी ने हमें 🕉️हिंदू मुसलमान☪️ बना दिया।

👉तुम शोर करते हो¸
सुर्खियों में आने के लिए¸
👉हमारी👈 तो खामोशियां🤫 अखबार बनी हुई है✧।

मैंने दबी आवाज़ में पूछा – “मुहब्बत करने लगी हो?”
नज़रें झुका कर वो बोली – “बहुत

बहुत मुश्किल से करता हूँ,
तेरी यादों का कारोबार,
मुनाफा कम है,
पर गुज़ारा हो ही जाता है

कुछ🤏 शिकायत बनी रहे¸ तो बेहतर है✧¸
चाशनी में डूबे रिश्ते👨‍👨‍👧‍👧 वफादार ❌नही होते।

सच को तमीज ही ❌नही बात करने की¸
झूठ⚠️ को 👁‍🗨देखो कितना मीठा 🗣बोलता है✧।

उसने कागज की कई कश्तिया पानी उतारी और
ये कह के बहा दी कि समन्दर में मिलेंगे

सुना हैं काफी पढ़ लिख गए हो तुम
कभी वो भी पढ़ो जो हम कह नहीं पाते हैं

समेट लो इन नाजुक पलो को
ना जाने ये लम्हे हो ना हो
हो भी ये लम्हे क्या मालूम शामिल
उन पलो में हम हो ना हो

कुछ अलग करना हो तो
भीड़ से हट के चलिए,
भीड़ साहस तो देती हैं
मगर पहचान छिन लेती हैं

कुछ बातें तब तक समझ में नहीं आती
जब तक ख़ुद पर ना गुजरे

अच्छी किताबें और अच्छे लोग
तुरंत समझ में नहीं आते हैं,
उन्हें पढना पड़ता हैं

सुनो…
जब कभी देख लुं तुमको
तो मुझे महसूस होता है कि
दुनिया खूबसूरत है

बहुत अंदर तक जला देती हैं,
वो शिकायते जो बया नहीं होती

तेरे जाने से तो कुछ बदला नहीं,
रात भी आयी और चाँद भी था, मगर नींद नहीं

शोर की तो उम्र होती हैं
ख़ामोशी तो सदाबहार होती हैं

एक सपने के टूटकर चकनाचूर हो जाने के बाद
दूसरा सपना देखने के हौसले का नाम जिंदगी हैं

तकलीफ़ ख़ुद की कम हो गयी,
जब अपनों से उम्मीद कम हो गईं

घर में अपनों से उतना ही रूठो
कि आपकी बात और दूसरों की इज्जत,
दोनों बरक़रार रह सके

Default image
tranding Quiz
Leave a Reply